फिर किसी को ज़िंदा जला दिया जायेगा क्योंकि वो हिन्दू था, किसी को ज़िंदा जला देंगे क्योंकि उन्हें शक था कि उस मुसलमान के फ्रिज में रखी चीज़ गौमांस थी

15 अगस्त 2016, आज का दिन बहुत अच्छा गुज़रा। किसी का किसीसे कोई मतभेद नही रहा। सभी देशभक्ति के रंगों में सराबोर दिखे। अच्छा लगा, आज सारा हिन्दुस्तान एक दिखा। आज का दिन देखने के बाद अब कल से डर लगता है। कल फिर से लोग भारतीय छोड़ और हिंदु, मुस्लिम, सिख और ईसाई बन जायेंगे। आज जिनके हाथ जोड़ा था कल उन्ही आज़ादी के नायकों को गालियां देंगे और अपने-अपने हिसाब से तर्क देकर सिद्ध करने की कोशिश करेंगे कि देश की आज़ादी और प्रगति में उनका कोई योगदान नहीं था। और आखिर में मज़हब के नाम पे ये खुद को गांधी-नेहरू-बोस-पटेल-आज़ाद-भगतसिंह-अशफाकउल्ला-मौलाना अबुल कलाम से भी बड़े देशभक्त बताएंगे। फिर किसी को ज़िंदा जला दिया जायेगा क्योंकि वो हिन्दू था, किसी को ज़िंदा जला देंगे क्योंकि उन्हें शक था कि उस मुसलमान के फ्रिज में रखी चीज़ गौमांस थी या फिर मरी हुई गाय को दफ़न करने ले जाते दलितों को गौरक्षा के नाम पे नंगा करके पीटते फिरेंगे। ज़रा सोचिये इतनी सारी मेहनत, ऊर्जा और समय की बर्बादी के बाद, मानव हत्या का बोझ सर पे लेकर और किसी को विधवा-अनाथ-निसंतान बनाकर आप देशभक्ति कमा रहे हैं या पाप??? देशभक्ति इतनी जटिल, हानिकारक और कष्टप्रद नहीं होती है बन्धु। देशभक्ति तो बहुत आसान है। उदाहरण के लिए रियो में चल रहे ओलिंपिक खेलो में अपना पसीना बहा रहे हमारे खिलाडियों का हौसला आप एक ट्वीट या फेसबुक पोस्ट से बढ़ा सकते हैं। आपका साथ उन्हें वो प्रेरणा दे सकता है जिससे वो देश के लिए एक अदद पदक ला सकते हैं।

15-aug-gaurav
अपनी देशभक्ति सिद्ध करने के आपको सैकड़ों मौके मिलते है। आप दुर्घटना में घायल किसी व्यक्ति को अस्पताल पहुंचा सकते हैं, किसी असमर्थ को सड़क पार करा सकते हैं, घर के पुराने कपड़े, किताबें और खिलौने अनाथालय में दे सकते हैं, महिलाओं को सम्मान दे सकते हैं, समय से दफ्तर-स्कूल-कॉलेज पहुँच सकते हैं, अपने कार्यों को मेहनत लगन और ईमानदारी से करते हुए देश की प्रगति में हाथ बँटा सकते हैं। यहां तक कि स्नैक्स खाने के बाद उनके छिलके कूड़ेदान में डालकर भी आप देशभक्ति का ही परिचय देते हैं। दिलो-दिमाग को सुकून देने वाले इन कार्यों को करने वाले आप आज के युग के एक बड़े देशभक्त हैं । परंतु अगर आपको हिंसा और मारकाट करने में सुकून मिलता है तो माफ़ करिए मित्र, आप बीमार हैं देशभक्त नही।

गौरव शुक्ला
कार्यालय प्रबन्धक
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी
सोशल मीडिया

gaurav-shukla

1 Comment on “फिर किसी को ज़िंदा जला दिया जायेगा क्योंकि वो हिन्दू था, किसी को ज़िंदा जला देंगे क्योंकि उन्हें शक था कि उस मुसलमान के फ्रिज में रखी चीज़ गौमांस थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *