साक्षी महाराज की तैयारी साम्प्रदायिकता की आग में चुनावी रोटिया सेकने की

March 2, 2017 Shivpal Gurjar Luhari No comments exist

New Delhi | 1,March 2017|

विवादित बयानों के लिए मशहूर बीजेपी सांसद साक्षी महाराज भी कब्रिस्तान और श्मशान विवाद में कूद पड़े हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कब्रिस्तान और श्मशान पर दिए उस बयान पर असहमति जताई है, जिसमें उन्होंने कब्रिस्तान और श्मशान दोनों बनाने की बात कही थी.

Sakshi-Maharaj-No-More-Graveyards
sakshi maharaj said there will be no any graveyard

 

साक्षी महाराज ने कहा,

‘’मैं प्रधानमंत्री की बात सहमत नहीं हूं. कब्रिस्तान बनना ही नहीं चाहिए.  अगर कब्रिस्तानों में हिंदुस्तान की सारी की सारी जमीन चली जाएगी तो खेती-खलिहान कहां होंगे ?’’

 

साक्षी महाराज ने आगे कहा,  

‘’चाहे नाम कब्रिस्तान हो चाहे शमशान हो. सबका दाह संस्कार ही होना चाहिए.’’ उन्होंने कहा, ‘’किसी को गाड़ने की आवश्यकता ही नहीं है, दुनिया के बाकी मुस्लिम देशों में शवों को जलाया जाता है. उन्हें जमीन में नहीं गाड़ा जाता.’’

 

साक्षी ने कहा, ‘’देश में ढ़ाई करोड़ साधू हैं अगर सबकी समाधी बनेगी तो कितनी जमीन जाएगी. वहीं 20 करोड़ मुस्लिम हैं. अगर सबको कब्र चाहिए तो हिन्दुस्तान में जगह कहां मिलेगी.’’


 

क्या कहा था पीएम मोदी ने

यूपी के फतेहपुर में पिछले दिनों एक रैली को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा था. ‘’धर्म के आधार पर किसी के साथ भेदभाव नहीं होना चाहिए. यूपी में भेदभाव सबसे बड़ा संकट है. ये भेदभाव नहीं चल सकता. हर किसी को उसके हक़ का मिलना चाहिए ये सबका साथ सबका विकास होता है.”

 

पीएम मोदी ने आगे कहा , “अगर होली पर बिजली मिलती है तो ईद पर भी बिजली मिलनी चाहिए. भेदभाव नहीं होना चाहिए. अगर रमजान में बिजली मिलती है तो दिवाली पर भी बिजली मिलनी चाहिए. गांव में कब्रिस्तान बनता है तो श्मशान भी बनना चाहिए.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *