“मोदियाबिन्द” का वायरस पड़ रहा कमज़ोर

September 20, 2016 Azhar Alam No comments exist

Shiv-andey-congress

Shiv Pandey

एक वक्त ऐसा था जब नरेंद्र मोदी ख़ुद लगभग वही बात कहते नजर आते थे जो आज उनके आलोचक कह रहे हैं। एक पुराने टीवी कार्यक्रम में पाकिस्तान के प्रति भारत सरकार के रवैए पर बोलते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा था, “…पाकिस्तान हमको मार कर चला गया, पाकिस्तान ने हमपर हमला बोल दिया मुंबई में और हमारे मंत्री जी अमेरिका गए और रोने लगे ओबामा ओबामा, हमको मारकर चला गया, बचाओ बचाओ…ये कोई तरीका होता है क्या…पडो़सी मारकर चला गया और अमेरिका जाते हो, अरे पाकिस्तान जाओ ना….” उस समय मोदी गुजरात के सीएम थे। एक अन्य सवाल के जवाब में मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी को अपना गुरु बताते हुए कहा था कि चेला गुरु से बड़ा नहीं हो सकता। 2011 में वरिष्ठ पत्रकार रजत शर्मा ने “आप की अदालत” टीवी कार्यक्रम में मेहमान बनकर आए नरेंद्र मोदी से पूछा था कि अगर मुंबई हमलों के समय आप देश के इंचार्ज होते तो क्या करते? इस पर मोदी ने कहा था, “मैंने गुजरात में जो किया वो करके दिखाता, मुझे देर नहीं लगती…पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब देना चाहिए

….ये लव लेटर लिखना बंद करना चाहिए…” जब शर्मा ने पाकिस्तान के मसले पर इंटरनेशनल प्रेशर का हवाला दिया तो मोदी ने कहा, “इंटरनेशनल प्रेशर पैदा करने की ताकत आज हिन्दुस्तान में है। 100 करोड़ का देश है, पूरी दुनिया में प्रेशर हम पैदा कर सकते हैं जी, कोई हमपर कैसे प्रेशर दे सकता है। ये उल्टी गंगा क्यों चली, मैं हैरान हूं जी! पाकिस्तान हमको मार कर चला गया, पाकिस्तान ने हमपर हमला बोल दिया मुंबई में और हमारे मंत्री जी अमेरिका गए और रोने लगे ओबामा ओबामा, हमको मारकर चला गया, बचाओ बचाओ। ये कोई तरीका होता है क्या? पडो़सी मारकर चला गया और अमेरिका जाते हो, अरे पाकिस्तान जाओ ना! आज "आप की अदालत "में रजत शर्मा के समक्ष मोदीजी का दिया हुआ इंटरव्यू अनायास याद आ गया, जो मोदीजी ने पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए दिया था! अब कोई मोदीजी से पूछें कि वो सब नाटक क्यों कर रहे थे? कशमीर हमले में बलिदान हुए देश के रखवालों को शत् शत् नमन किसी सत्ता के दलाल को अगर इस बात से मिर्ची लगी है तो उचित लगी है

गौरव शुक्ला
कार्यालय प्रबन्धक
उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी
सोशल मीडिया

gaurav-shukla

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *